Oct 11, 2018
18 Views
Comments Off on माँ के भक्तों आया नवरात्री का त्यौहार

माँ के भक्तों आया नवरात्री का त्यौहार

Written by

इस समय नवरात्रि का त्यौहार सम्पूर्ण भारतवर्ष में धूमधाम से मनाया जा रहा है। यह एक पावन त्यौहार है। जिसको लोग 1 वर्ष में कई बार मनाते हैं। नवरात्रि नौ दिनों का त्यौहार होता है जिसमें माँ दुर्गा की पूजा-अर्चना की जाती है। नवरात्रि संस्कृत शब्द से मिलकर बना है जिसमें नव का अर्थ है नौ दिन और रात्रि का अर्थ है रात।

यह तो सभी जानते हैं कि नवरात्रि नौ दिन का त्यौहार होता है। इस त्यौहार के अंतिम दिन में विजयदशमी अथवा दशहरा पड़ता है। कहा जाता है कि रामायण के अनुसार इस दिन राम के द्वारा रावण का वध हुआ था। यही कारण है कि लोग अपने मोहल्ले तथा मैदानों में रावण का बड़ा सा पुतला बना कर जलाते हैं और इसकी खुशी मनाते हैं।

navaratri Durga Maa

नवरात्रि त्यौहार के दौरान देवी दुर्गा माँ के नौ अवतारों की पूजा की जाती है। मां दुर्गा के नौ अवतारों के नाम कुछ इस प्रकार हैं- शैलपुत्री, ब्रहृमचारिणी, चन्द्रघण्टा, कुष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायिनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री।

नवरात्रि के दिन भक्तगण फल तथा कुछ विशेष प्रकार की सब्जियों का फलाहार बनाकर खाते हैं, या फिर सिर्फ पानी पीकर ही व्रत रखते हैं। अब जिसकी जैसी श्रद्धा।

उत्तर भारत में कई जगहों पर नवरात्रि के नौवें दिन ‘कन्यापूजन’ भी नवरात्रि के दौरान लोग करते हैं। इस पूजा में 9 छोटी लड़कियों को  देवी मां के नौ रूप मानकर उनकी पूजा की जाती है और साथ ही उन्हें हलवा, पूरी, मिठाईयां, खाने को दिया जाता है। उसी प्रकार भारत के पूर्वी राज्यों जैसे पश्चिम बंगाल में जगह-जगह दुर्गा मां के पंडाल बनाए जाते हैं जहां भक्त दर्शन के लिए पहुंचते हैं। वहां पर माता दुर्गा की पूजा करते हैं और उनसे सुख-शांति की कामना करते हैं। कई जगहों पर पारंपरिक नृत्य और गीत के कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं जहां हजारों की तादाद में लोग पहुंचते हैं।  दसवें दिन पश्चिम बंगाल के लोग मां दुर्गा की मिट्टी के मूर्तियों को पानी में विसर्जन कर देते हैं।

भारत के कई राज्यों मैं नवरात्रि का एक अलग ही रंग दिखता है जहां शाम के समय लोग दांडिया खेलते हैं। अतः हम कह सकते हैं कि यह हमारे भारत का ऐसा त्यौहार है जिसे भारत के कोने कोने में मनाते हैं।

 

Article Categories:
Festive