Oct 11, 2018
11 Views
Comments Off on यदि आपको मियादी बुखार या टाइफाइड है तो आप हो जाईये सावधान

यदि आपको मियादी बुखार या टाइफाइड है तो आप हो जाईये सावधान

Written by

मियादी बुखार अथवा टायफाइड यह एक खतरनाक रोग है। इस रोग का यदि समय पर उपचार नहीं किया गया तो हमें बहुत महंगा हरजाना भी भरना पड़ सकता है। इस रोग में 102 डिग्री सेल्सियस तक बुखार आ जाता है। टाइफाइड बुखार एक खतरनाक रोग है, इसे मियादी बुखार भी कहा जाता है। यह बैक्टीरिया साल्मोडनेला टायफी से होता है। अक्सर यह रोग संक्रमित व्यक्ति के जूठे खाद्यान पदार्थ के सेवन से अथवा गंदे पानी और अस्वच्छ खाद्यान पदार्थों के सेवन से भी हो सकता है। टाइफाइड को एंटीबायोटिक दवाइयों से रोका तथा इसका उपचार किया जा सकता है।

typhoid fever

आइये हम आपको इस रोग के लक्षणों से अवगत कराते हैं और साथ ही साथ इससे बचने के उपायों को भी बताते हैं-

लक्षण

टाइफाइड के रोगी को 102 डिग्री सेल्सियस से भी ज्यादा बुखार आता है और शरीर में कमजोरी भी आने लगती है।

पेट में दर्द, बुखार, सिर दर्द और भूख भी कम लगती है।

इस रोग में दस्त की भी शिकायत होती है। आंतों में संक्रमण होने का भय होता है। कभी-कभी तो स्थिति इतनी खराब हो जाती है कि आंतों के जख्म या अल्सर के फटने से ऑपरेशन कराने की स्थिति आ जाती है।

टाइफाइड में कभी-कभी 1 महीने तक बुखार होता है या हो सकता है कि उससे भी अधिक समय लग जाये। इस स्थिति में रोगी की शारीरिक स्थिति काफी कमजोर हो जाती है, और उसको पूर्ण रूप से ठीक होने में काफी समय लगता है।

बचाव

टाइफाइड के रोगी को बाकी लोगों से दूर रखना चाहिए क्योंकि यह एक संक्रमित रोग होता है।

इस रोग में रोगी स्वच्छ भोजन व स्वच्छ जल देना चाहिए।

इस रोग के लक्षण पता चलते ही डॉक्टर से इसका उपचार करवायें।

टाइफाइड के रोगी के मल-मूत्र के संपर्क से बचने के लिए उचित सावधानियां बरतनी चाहिए जैसे खाने से पहले हाथों को अच्छी तरह से धो लेना चाहिए, खुले में शौच नहीं जाना चाहिए आदि।

रोगी को सही समय पर दवाई खिलानी चाहिए और स्वच्छता का विशेष ध्यान देना चाहिए।

 

Article Categories:
Health & Beauty